ब्लॉग » स्वास्थ्य ब्लॉग » Monsoon Health Tips in Hindi – मानसून में हेल्दी रहने के टिप्स
Monsoon health tips in hindi

Monsoon Health Tips in Hindi – मानसून में हेल्दी रहने के टिप्स

जैसा कि आप सभी जानते हैं भारत में मानसून दस्तक दे चुका है। मानसून का मौसम साल भर का वह समय होता है जब जम कर बारिश होती है और भीषण गर्मी से राहत मिलती है। परन्तु यह मानसून राहत के साथ-साथ बीमारियां भी लाता है। मानसून के मौसम में अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना अत्यंत आवश्यक होता है। हालांकि, स्वस्थ रहने के लिए विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। इसलिए आज हम आपके साथ मानसून के मौसम में ध्यान रखने वाली कुछ सरल और हेल्दी टिप्स (Monsoon Health Tips in Hindi) बाँटने जा रहे हैं। आइये जानते हैं क्या हैं वो टिप्स और कैसे रखे मानसून में अपने बालों, स्किन और शरीर का ध्यान।

यदि यहां मानसून में होने वाली बिमारियों की बात की जाए तो चारों ओर पड़ी बारिश के कारण जगह जगह पानी रुक जाता है जिस कारण पानी में मच्छरों का प्रजनन करना आसान हो जाता है और मच्छरों से फैलने वाले संक्रमणों, जैसे मलेरिया और डेंगू बुखार का खतरा बढ़ जाता है। इनके अलावा वायरल संक्रमण भी आम हैं। इसके अलावा, उच्च आर्द्रता कई त्वचा रोगों और फंगल संक्रमण में योगदान कर सकती है।

यदि कोई व्यक्ति क्रोनिक त्वचा की स्थिति जैसे एक्जिमा, मुँहासे और सोरायसिस से परेशान है तो मानसून के मौसम में ये स्थितियां और भी खराब हो जाते हैं। मानसून की जलवायु कवक/फंगस के पनपने के लिए भी आदर्श होती है।

भारत में मानसून के दौरान स्वस्थ रहने के टिप्स – Monsoon Health Tips In Hindi

  • यदि आप स्ट्रीट फूड के शौकीन हैं, तो बारिश का मौसम इन सभी को खाने का समय नहीं है। मानसून के दौरान पानी और कच्ची सब्जियों का प्रदूषित होना बहुत आम होता है। आप इन दूषित खाद्य पदार्थों को खाकर आसानी से बीमार पड़ सकते हैं।
  • मच्छरों को अपने से दूर रखने और काटने से रोकने के लिए एक अच्छे कीट निवारक का प्रयोग करें। इस समय के दौरान मलेरिया-रोधी और डेंगू – रोधी दवाओं का सेवन करना भी एक अच्छा विचार हो सकता है, क्योंकि इस समय ये बीमारियाँ सबसे अधिक फैलती हैं।
  • जितना सम्भव हो सके, गंदे पानी में चलने से बचने की कोशिश करें। लेप्टोस्पायरोसिस के अलावा, गंदे पानी से पैरों और नाखूनों कई अनेक प्रकार के फंगल इन्फेक्शन हो सकते हैं।
  • इसके अलावा जहां सड़क पर पानी भरा हो वहां चलने से बचें, क्योंकि ट्रैफ़िक होने पर यह आपके ऊपर आ सकता है और आपको गन्दा कर सकता है।
  • यदि आपके पेअर भीगे हुए हैं तो तुरंत उन्हें सुखायें और गीले मोजे या गीले जूते पहन कर न रहें ऐसा करने से आपके पैरों और उँगलियों में इन्फेक्शन हो सकता है।
  • यदि आप बारिश में भीग जाते हैं, तो त्वचा की समस्याओं से बचने के लिए कीटाणुनाशक बीटाडीन के 3 ढक्कन नहाने के पानी में डालकर स्नान करें।
  • अपनी त्वचा को साफ रखने के लिए दिन में दो बार स्नान करें। इस मौसम में नमी के कारण आपकी त्वचा की सतह पर अन्य विषाक्त पदार्थों के साथ, पसीने और गंदगी जम सकती है।
  • अपने शरीर को गर्म और सूखा रखें और अपने आप को सर्दी और खांसी से बचायें।
  • गीले बालों और नम कपड़ों के साथ एसी (AC) वाले कमरों में प्रवेश न करें।
  • सिंथेटिक और तंग कपड़े पहनने से बचें। जितना हो सके कोशिश करें कि सूती कपडे या लिनन के कपडे ही पहनें।
  • त्वचा की परतों में पसीने और नमी को इकट्ठा होने से को रोकने के लिए एंटी-फंगल पाउडर का उपयोग करें। यदि आपको फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा ज्यादा होता है, तो माइकोडर्म जैसे मेडिकेटेड पाउडर का उपयोग करें।
  • यदि आप अस्थमा या डायबिटीज से पीड़ित हैं, तो नम दीवारों के पास रहने से बचें। ऐसे रोगियों में यह फंगस के विकास को बढ़ावा देता है जो विशेष रूप से हानिकारक हो सकता है।
  • जितना हो सके वार्मिंग हर्बल चाय पियें जो एंटीबैक्टीरियल गुण रखती हो।
  • अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए और संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए विटामिन सी का सेवन करें।
  • मानसून के मौसम में बच्चों की त्वचा विशेष रूप से कमजोर होती है। इम्पेटिगो एक संक्रामक स्किन इन्फेक्शन होता है जो बच्चों के शरीर पर लाल घावों का कारण बनता है जो खुले, ऊज द्रव को तोड़ सकते हैं और एक क्रस्ट विकसित कर सकते हैं। घाव आमतौर पर माउंट और नाक के आसपास दिखाई देते हैं। मानसून के दौरान घुन से होने वाली खुजली भी आम है और खुजली वाली त्वचा पैदा करती है। इन्हे फैलने से रोकने के लिए इन स्थितियों का इलाज करवाना अत्यंत आवश्यक होता है अतः इसके लिए एक अच्छे त्वचा विशेषज्ञ (डर्मेटोलॉजिस्ट) से मिलें और सलाह लेकर इलाज कराये।

Here’s to staying healthy and happy!

मानसून बहुत से स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों को सामने लाता है, यही कारण है कि हमने आपको यहां आपको सुरक्षित रखने के लिए कुछ स्वस्थ्य हेल्दी टिप्स बताये। परन्तु इसका मतलब यह नहीं है कि आप मौसम का लुत्फ़ न उठायें। यदि आप सबधाणी के साथ और ऊपर दी गयी सभी टिप्स का अनुसरण करते हैं तो आप मानसून में भी अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं।

अपने स्वस्थ्य से जुडी किसी भी समस्या और मुफ़्त व्यक्तिगत मार्गदर्शन के लिए, क्रेडीहेल्थ मेडिकल एक्सपर्ट से बात करने के लिए यहाँ क्लिक करें-

कॉल बैक का अनुरोध करें

Need Guidance in choosing right doctor?

REQUEST CALLBACK
Subscribe