ब्लॉग » स्वास्थ्य ब्लॉग » जॉन्डिस (पीलिया) के लक्षण , इलाज और उपचार – Jaundice Meaning in Hindi

जॉन्डिस (पीलिया) के लक्षण , इलाज और उपचार – Jaundice Meaning in Hindi

जॉन्डिस (Jaundice meaning in Hindi) शब्द का प्रयोग त्वचा का और आंखों के सफेद भाग का पीला रंग होने का वर्णन करने के लिए किया जाता है।शरीर का तरल पदार्थ भी पीला हो सकता है।संयुक्त राज्य अमेरिका(USA) में पैदा हुए सभी शिशुओं में से लगभग 60 प्रतिशत जॉन्डिस के शिकार होते हैं। जॉन्डिस(piliya – Jaundice in Hindi) आमतौर पर यकृत या पित्त नली के साथ एक समस्या को दर्शाता है। आइये इस लेख की सहायता से पीलिया के लक्षणों (Jaundice ke lakshan), इसके इलाज और उपचार (jaundice ke ilaj aur upchar) के बारे और अधिक जानकारी लेते हैं।

जॉन्डिस या पीलिया का अर्थ – Jaundice Meaning in Hindi

जॉन्डिस (Jaundice meaning in hindi) को हिंदी में पीलिया कहते हैं। जॉन्डिस या पीलिया एक तरह का सीधे लीवर से जुड़ा हेपॅटिटिस बिलीरुबिन(Hepatitis Bilirubin) रोग है। हेपेटिटिस को आम भाषा में जॉन्डिस, Icterus, Intra-Hepatic पीलिया रोग (jaundice meaning in hindi) के नाम से भी जाना जाता है। जॉन्डिस रक्त में बिलीरुबिन, अपशिष्ट सामग्री के बनने के कारण होता है। पीलिया(Jaundice in Hindi – piliya meaning) लिवर और पाचनतंत्र को खराब कर देता है। पीलिया (jaundice in hindi) से हर साल हजारों लोगो की मौत हो जाती है। यह विशेष प्रकार के virus से फैलता है।

और पढ़िए: Fever Meaning in Hindi

जॉन्डिस मुख्य रूप से तीन प्रकार का होता है – Types of Jaundice in Hindi

  • Hepatocellur Jaundice(Liver Disease या चोट के परिणामस्वरूप)
  • Hemolytic Jaundice(Red Blood cells के टूटने से)
    पित्त नली में बाधा के परिणामस्वरूप अवरोधक पीलिया होती है।
  • यह liver से Bilirubin के secretion को रोकता है।

पीलिया के कारण- Causes of Jaundice in Hindi

पीलिया (Piliya meaning – Jaundice meaning in hindi) Blood में Bilirubin की अधिक मात्रा के होने कारण(यह Liver में समस्या के कारण हो सकता है )। Bilirubin एक पीले रंग का अपशिष्ट पदार्थ है जो खून से Iron के निकलने के बाद रक्त प्रवाह में बना रहता है। यकृत (Liver) रक्त से अपशिष्ट पदार्थ को अलग कर देता है। जब Bilirubin Liver तक पहुंच जाता है, तो other chemicals Bilirubin से जुड़ा होते है- जो एक Conjugated Bilirubin बनाते हैं। Liver पाचन रस और Bile juice बनाता है। Conjugated Bilirubin पित्त में प्रवेश करता है, फिर यह शरीर को छोड़ देता है। यह बिलीरुबिन मल का रंग भूरा कर देता है। Bilirubin की अधिक मात्रा आसपास के tissues को leak कर सकता है। इसे Hyperbilirubinemia कहतें है, और यह त्वचा और आंखों में पीले रंग का कारण बन सकता है।

और पढ़िए: Quinoa Meaning in Hindi.

पीलिया के लक्षण – Symptoms Of Jaundice in Hindi

jaundice meaning in hindi - jaundice in hindi
                                                                         Source: Byju’s

Piliya – पीलिया के लक्षण (Jaundice Symptoms in Hindi) इस प्रकार हैं:

Bilirubin की अधिक मात्रा से उत्त्पन्न लक्षण

  • त्वचा और आँखों के सफेद भाग का पीला पड जाना
  • जलन होना
  • गाढ़े रंग का मूत्र आना
  • पीला मल

Bilirubin की कम मात्रा से उत्त्पन्न लक्षण

  • गाढ़े रंग का मूत्र आना
  • पीला मल
  • बुखार
  • वजन घटना (weight Loss)
  • थकान
  • पेट दर्द
  • Vomiting – उलटी

और पढ़िए: Breast Cancer Symptoms in Hindi.

पीलिया के इलाज और उपचार- Jaundice Treatment in Hindi

जॉन्डिस या पीलिया (Piliya – Jaundice treatment in hindi) का उपचार लक्षणों के बजाय कारण पर निर्भर करता है। पीलिया के रोगियों को अधिक देखरेख की जरूरत होती है, और इसे घर पर भी किया जा सकता है। Piliya – पीलिया (Jaundice meaning in hindi) का उपचार निम्न कारणों पर निर्भर करता है:

  • Iron की खुराक लेने या अधिक Iron युक्त खाद्य पदार्थ खाने से blood में Iron की मात्रा को बढ़ाकर एनीमिया से होने वाला जॉन्डिस का इलाज (jaundice ka ilaj) किया जा सकता है।
  • Hepatitis से होने वाला जॉन्डिस को एंटीवायरल या Steroids दवाओं की आवश्यकता होती है।
  • Surgery की सहायता से डॉक्टर पीलिया या जॉन्डिस का इलाज कर सकते हैं।
  • यदि जॉन्डिस (jaundice meaning in hindi) दवा के उपयोग के कारण हुई है, तो इसके इलाज के लिए दवा को बदल सकते है।
  • यदि जॉन्डिस Drugs के गलत प्रयोग के कारण हुआ है तो उसके कारण को पहचान कर Drugs को तुरन्त रोक देना चाहिए।