ब्लॉग » स्वस्थ आहार » आंवला और आंवला जूस के फायदे और नुकसान | Amla Juice Benefits In Hindi

आंवला और आंवला जूस के फायदे और नुकसान | Amla Juice Benefits In Hindi

भारतीय गूजबेरी (Amla in Hindi) या आंवला निर्विवाद रूप से पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है। आवश्यक खनिज और विटामिन हमारे शरीर के कल्याण के लिए ही नहीं हैं, बल्कि कुछ सबसे आम और व्यापक बीमारियों को रोकने और प्रबंधित करने के लिए भी अनिवार्य हैं। आंवला को चाहे कच्चा खाया जाये, जूस पिया जाये, पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जाये या अचार और जैम के रूप में इस्तेमाल किया जाये यह हर तरीके से हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक (Amla Juice Benefits in Hindi) है ही।

आंवला विटामिन C का एक उत्कृष्ट स्रोत है , इसलिए यह हमारी इम्युनिटी, मेटाबोलिज्म (Metabolism in Hindi) को बढ़ावा देने में मदद करता है और सर्दी-खांसी सहित वायरल और बैक्टीरिया संबंधी बीमारियों को रोकता है। इसकी पौष्टिक प्रोफ़ाइल पॉलीफेनॉल श्रृंखला के साथ आती है जो कैंसर सेल के विकास के खिलाफ लड़ने के लिए जानी जाती है। आंवला ऐसे अनेक गुणों के साथ भरपूर होता है आंवला ही नहीं, आंवला जूस भी हमारे सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। ऐसे ही कुछ और फायदों (Amla Juice ke Fayde) को जानने के लिए आइये जानते हैं और क्या क्या फायदे हो सकते हैं आंवला खाने के और Amla juice ke fayde in hindi पीने के।

Indian Gooseberry in Hindi – आंवला इन हिंदी

इंडियन गूजबेरी को आंवला के नाम से जाना जाता है। विज्ञान ही नहीं बल्कि आयुर्वेद में भी इसका प्रमाण मिलता है कि आंवला और इसका जूस शरीर की सभी प्रक्रियाओं को संतुलित करने के लिए इस्तेमाल होता है। इतना ही नहीं आयुर्वेद में बताया गया है कि आंवला जूस (Amla Juice Benefits in Hindi) को हमारे शरीर के तीनो दोषों – वात, पित्त और कफ को भी संतुलित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।आंवला में विटामिन C भरपूर मात्रा में होता है जो एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट है और यह आपको फ्री रेडिकल के हानिकारक प्रभावों के खिलाफ सुरक्षा देता है। इससे उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद मिलती है और कोलेजन उत्पादन के लिए इसकी आवश्यकता होती है जो हमारी त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाए रखता है, और हमारे इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है। “अगर आप इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करते हैं तो, आंवला और आंवला जूस के फायदे आप ले सकते हैं।

आंवला खाने के तरीके

आंवला और आंवला जूस के फायदों को सही तरीके से लेने के लिए जरूरी है कि आपको पता हो कि इसका इस्तेमाल कैसे करें। यहां हम बताने जा रहें हैं कि आंवला कैसे खाएं – आंवला के लाभ लेने के लिए सबसे प्रभावी तरीका है इसका जूस पीना, प्रतिदिन खाली पेट इसका जूस पियें या पानी के साथ इसे खाएं।यह आपके पाचन तंत्र को तो सही करेगा ही आपकी त्वचा को निखारेगा, बालों को घना और काला बनायेगा और साथ ही आपकी आँखों की रौशनी को भी बढ़ायेगा। आँवला और आँवला जूस थोड़ा अरुचिकर हो सकता है पर यह हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त लाभकारी भी होता है।आप आँवला जूस के साथ थोड़ा निम्बू का रस और शहद भी मिला सकते हैं, जिससे इसका स्वाद थोड़ा सही हो जायेगा। यदि आप आंवला जूस को जामुन और करेले के जूस के साथ पिएंगे तो यह डायबिटीज को मैनेज करने में भी फायदा करता है। जिन लोगों को कोलेस्ट्रॉल लेवल और बालों से सम्बंधित समस्याएं हैं, उन्हें आँवला जूस और एलोवेरा का जूस एक साथ मिलाकर पीना चाहिए। इन दोनों को एक साथ पीने से आप अदभुत परिणाम पा सकते हैं। यदि आप अच्छी आँखों की रोशनी पाना चाहते हैं तो इसे सोने से पहले पीना बहुत ही लाभकारी हो सकता है। इसके अलावा यह जंक फूड्स के बुरे प्रभावों से भी आपको डेटोक्सीफाई करता है। आइये जानते हैं Amla Juice Ke Fayde के बारे में –

Amla Juice Benefits in Hindi or Amla Juice ke Fayde – आंवला जूस के फायदे

आंवला ही नहीं, आंवला जूस भी स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यहां हमने आंवला जूस के फायदों के बारे में विस्तार से बताया है-

Amla Juice Benefits in Hindi, Amla Benefits in Hindi, Amla in Hindi, Amla Juice ke Fayde

सर्दी खाँसी में आंवला जूस के फायदे 

आंवला जूस को खांसी और फ्लू के साथ-साथ मुंह के अल्सर के इलाज के लिए एक शक्तिशाली घरेलू उपचार के रूप में लिया जाता है। रोजाना शहद आंवला जूस को बराबर भाग में दो चम्मच लेना सर्दी और खांसी के इलाज में बहुत मदद कर सकता है। आंवला के 2 चम्मच पानी में मिलाएं और इससे दिन में 2 बार गरारे करने से मुंह के अल्सर से छुटकारा मिल सकता है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल को सुधारने में आंवला जूस के फायदे 

आंवला जूस का नियमित सेवन कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में मदद करता है। और साथ ही एमिनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट हमारे दिल की समग्र कार्यप्रणाली को सुचारु रूप से चलने में सहायता करते हैं।

डायबिटीज में आँवला जूस के फायदे 

आंवला जूस को यदि आप जामुन और करेले के जूस के साथ पीते हैं, तो यह आपकी डायबिटीज को कम करने और मैनेज करने में सहायता कर सकता है। और साथ ही साथ आंवला का जूस अस्थमा जैसी श्वसन बीमारियों को मैनेज करने में भी सहायक होता है।

पाचन सिस्टम के लिए फायदेमंद 

आंवला जूस की प्रकृति एल्केलीन होती है जो हमारे सिस्टम को तो साफ करती ही है, हमारे पाचन सिस्टम को भी सुचारु रूप से चलाने में भी मदद करती है। इसके लिए आपको सुबह सुबह खाली पेट आंवला का जूस पीना चाहिए या आंवले को पानी के साथ लेने से भी यह हमारे पाचन सिस्टम को सही बनाएगा।

लिवर को सही से कार्य करने में फायदेमंद 

रोजाना आंवले  का सेवन लिवर को सही से कार्य करने का समर्थन करता है और शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देता है।

बालों और त्वचा के लिए फायदेमंद 

हमारे बालों के संरचना में करीबन 99% प्रोटीन होता है। आँवले में मौजूद एमिनो एसिड और प्रोटीन बालों के विकास में मदद करता है, और जड़ों को मजबूत बनाता है, और इन्हे झड़ने से रोकता है। आंवला जूस को कॉटन में लगाकर चेहरे पर लगाने से यह चेहरे के निशानों, पिग्मेंटेशन और दाग – धब्बों से छुटकारा दिलाता है, और साथ ही खुले हुए छिद्रों को भी बंद करता है।

दिल के स्वास्थ्य में सुधार में फायदेमंद 

कई अध्ययनों के अनुसार आंवला का जूस ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। पोटेशियम की उपस्थिति इस पेय को रक्त वाहिकाओं (ब्लड वेसल्स) और धमनियों (आर्टरीज) में तनाव को कम करने में मदद करती है, इस प्रकार आंवले का जूस एथेरोस्क्लेरोसिस, दिल के दौरे और स्ट्रोक के लक्षणों को रोकने में सहायक है।

इम्युनिटी बढ़ाने में फायदेमंद 

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के डॉक्टर डी एस खुर्दीया के अनुसार आँवला जूस विटामिन C का एक भरपूर स्त्रोत होता है जो हमारी इम्युनिटी को बूस्ट करता है, और व्हाइट ब्लड सेल्स के उत्पादन को बढ़ता है।

कैंसर से बचाव में फायदेमंद

Anticancer रिसर्च जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, आंवला जूस में उपस्थित एलाजिक एसिड, गैलिक एसिड, और अन्य flavonoids, कई प्रकार के कैंसर को रोकने और कैंसर के इलाज में मदद करते हैं। इसके जूस में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो शरीर में मुक्त कणों को कम करते हैं जो कैंसर के जोखिम को कम करने में सहायक होते हैं।

वजन घटाने में फायदेमंद 

आंवला जूस में बहुत ही कम मात्रा में कैलोरी होती है, जिस कारण इसे वजन घटाने  के लिए सप्लीमेंट की तरह इस्तेमाल किया जाता है। इसमें उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट्स पाचन सिस्टम को सुधारते हैं, और मेटाबोलिज्म को बढ़ाने का कार्य करते हैं जो हमारे शरीर की फालतू चर्बी को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा यह बुरे कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने में सहायक होता है।

मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स के इलाज में फायदेमंद 
आंवला में उपस्थित खनिज और विटामिन्स इसको मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स के इलाज के लिए उपयोगी बनाते हैं। चूँकि इसको हमारे शरीर में आवश्यक तत्वों को प्राप्त करने में थोड़ी देर लगती है, इसलिए नियमित रूप से आँवला का सेवन करते रहना चाहिये, जिससे इसके पोषक तत्व हमारे शरीर में बने रहें और मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स से बचाव किया जा सके।

Side Effects of Amla Juice in Hindi – आँवला जूस के नुकसान

किसी स्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थ का यदि आप अत्यधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो इसके फायदे कम और नुकसान (Side Effects of Amla Juice in Hindi) बहुत अधिक हो सकते हैं उसी तरह यदि आप आंवला जूस को अधिक मात्रा में पीते हैं तो आपको कब्ज (Constipation Meaning in Hindi), हाइपोग्लाइसेमिया, शुष्क त्वचा, हाइपोटेंशन, एसिडिटी, और एलर्जी जैसी प्रतिक्रियाओं का सामना करना पड़ सकता है यहां आंवले के जूस के कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में बताया गया है-

कब्ज (Constipation): हालांकि आंवला जूस पाचन सिस्टम को मजबूत करने में मदद करता है, पर इसका अतिरिक्त सेवन कब्ज पैदा कर सकता है।

शुष्क त्वचा (Dry Skin): आंवला जूस की मूत्रवर्धक प्रकृति शरीर को detoxifying के लिए उत्कृष्ट है, लेकिन यह निर्जलीकरण का कारण भी बन सकती है, जिसका असर आपकी त्वचा पर दिख सकता है। इसलिए आंवला जूस के साथ पर्याप्त पानी पियें।

एसिडिटी (Acidity): आंवला जूस में विटामिन सी की एक बड़ी मात्रा है, जो प्रकृति में अत्यधिक अम्लीय होती है। यदि आप इस जूस की अत्यधिक मात्रा पीते हैं तो आपको एसिडिटी हो सकती है।

ब्लड प्रेशर: ब्लड प्रेशर की दवा के साथ आंवला का जूस आपकी सेहत के लिये खतरनाक हो सकता है, इसलिए इसे अपनी डाइट में शामिल करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

ब्लड शुगर : आंवला जूस ब्लड शुगर को रेगुलेट करने के काम आता है परन्तु यह हाइपोग्लाइसेमिया का कारण बन सकता है, जो सामान्य लोगों और मधुमेह (मधुमेह के लक्षण, कारण और जानिए सही करने के उपाए) के रोगियों के लिए खतरनाक होता है।

एलर्जी प्रतिक्रियाएं: कुछ लोगआँवले के लिए एल्लेर्जिक होते हैं इसे खाने से पेट में परेशानी, जी मिचलाना, दस्त या उल्टी, या होंठ, जीभ या गले में सूजन का अनुभव हो सकता है। इन लक्षणों के प्रकट होने पर तत्काल इसका उपयोग बंद करें।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Anar Ke Fayde Or Nuksaan – जानिए अनार खाने के फायदे और नुकसान
इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Aloe Vera Ke Fayde in Hindi – जानिए एलोवेरा के गुणकारी फायदे

 

Need Guidance in choosing right doctor?

REQUEST CALLBACK