ब्लॉग » स्वस्थ आहार » जानिए अनार खाने के फायदे और नुकसान | Anar Ke Fayde Or Nuksaan

जानिए अनार खाने के फायदे और नुकसान | Anar Ke Fayde Or Nuksaan

Anar ke Fayde: अनार हमारे रसोईघरों में कई वर्षों से इस्तेमाल होता हुआ आ रहा है, कभी इसका इस्तेमाल दही भल्ले को जैज़ करने के लिए किया जाता है तो कभी पापड़ी चाँट के साथ।आमतौर पर लाल या नारंगी-पीले रंग वाला यह फल, वनस्पति विज्ञान के Lythraceae (लिथ्रेसे) परिवार के Punica जीन्स से संबंधित है। ऐसा माना जाता था कि यह पेड़ फारस और उत्तरी भारत के उप-हिमालयी तलहटी में पैदा हुआ करते थे, परन्तु अब यह भारतीय उपमहाद्वीप, ईरान और भूमध्य क्षेत्र में प्रचुर मात्रा में उगते हैं। भारत में अनार के लिए पीक सीजन सितंबर और फरवरी के बीच होता है, जब आप इसे स्थानीय बाजारों और फल विक्रेताओं से बहुत आसानी से खरीद सकते हैं। हालांकि यह साल भर डिपार्टमेंटल स्टोर्स पर उपलब्ध होता है, फिर भी आपको पीक सीजन में सबसे अच्छी गुणवत्ता वाले अनार मिलते हैं।अनार खाने के फायदे (Anar Ke Fayde in Hindi) इतने हैं कि यह एक अकेला फल आपको फाइबर, विटामिन, और खनिज एक साथ प्रदान करता है, लेकिन इसमें थोड़ी मात्रा में चीनी भी पायी जाती है। कुछ लोगों के लिए Anar Khane Ke Fayde जितने होते हैं, कुछ लोगों को यह नुकसान भी करता है। आइये जानते हैं कितना लाभकारी (Pomegranate Benefits in Hindi) है यह फल और क्या क्या नुकसान होते हैं अनार खाने के?

Nutrient Profile of Pomegranate in Hindi

एक अनार में करीबन सौ के लगभग दाने होते हैं, जिन्हे इरील्स कहा जाता है। एक कप इरील्स (174 grams) में लगभग-

फाइबर – 7 grams

प्रोटीन – 3 grams

विटामिन C – 30% of the RDI (Recommended Dietary intake)

विटामिन K – 36% of the RDI

फोलेट – 16% of the RDI

पोटैसियम – 12% of the RDI

इसके अलावा अनार के दानों में शुगर भी होता है, 1 कप अनार के दानों में लगभग 24 grams शुगर और 144 कैलोरी होती है।

Pomegranate Benefits in Hindi Or Anar ke Fayde

Pomegranate को हिंदी में अनार (Pomegranate Meaning in Hindi) के नाम से जाना जाता है। अनार को पृथ्वी पर सबसे स्वाथ्यवर्धक फलों में से एक माना जाता है। हिंदी में एक बड़ी ही प्रसिद्ध कहावत है- “एक अनार सौ बीमार” यह ऐसे ही नहीं है, अनार को इसके बहुमूल्य गुणों के कारण महाओषिधि कहा जाता है जिसमे अनेक बीमारियों को ठीक करने की क्षमता होती है। कई अध्ययनों के अनुसार हमारे शरीर के लिए अनार खाने के बहुत सारे फायदे (Anar Khane Ke Fayde) होते हैं। यह हमे कई बीमारियों से लड़ने की शक्ति तो प्रदान करता ही है, साथ ही बहुत सारे खनिज लवणों से युक्त भी होता है। अनार खाने के क्या क्या फायदे (Anar Ke Fayde in Hindi) हो सकते हैं इन्हे हमने इस लेख में नीचे बताया है। आइये जानते हैं अनार के फायदों (Anar Ke Fayde) के बारे में-

  1. एंटीऑक्सीडेंट गुण (Anar Ke Fayde)

अनार के दानों का चमकीला लाल रंग पॉलीफेनोल्स के कारण होता है जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है। अनार के जूस में किसी अन्य फल के जूस से ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट होता है। इसमें रेड वाइन (Red Wine Advantages) और ग्रीन टी की तुलना में 3 गुना ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट होता है। अनार के जूस में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कणों को हटाने में मदद कर सकता है, कोशिकाओं को नुकसान से बचा सकता है, और सूजन को कम कर सकता है।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: श्रेष्ठ 5 एंटीऑक्सिडेंट आहार हिंदी में – Antioxidant Food in Hindi

  1. विटामिन C युक्त:

एक अनार के जूस में आपके दैनिक आवश्यकता से 40% अधिक विटामिन C होता है। जब अनार के जूस को पाश्चुरीकृत किया जाता है तो उसमे विटामिन C टूट जाता है, इसलिए जितना हो सके, इसके सभी खनिजों का लाभ उठाने के लिए घर का बना ताज़ा जूस ही पियें।

  1. कैंसर से बचाव:

अनार के जूस ने अभी कुछ समय पहले ही कैंसर पीड़ित लोगों के जीवन में अलग ही छाप छोड़ी है जब शोधकर्ताओं ने यह ज्ञात किया कि अनार का जूस प्रोस्टेट कैंसर (Prostate Cancer Meaning in Hindi) सेल्स को रोकने के लिए बहुत ही कारगर है। यद्धपि मनुष्यों के साथ इसका कोई दीर्घकालिक अध्य्यन नहीं हुआ है जो यह बता सके कि यह कैंसर से बचाव करता है या उसके जोखिम को करता है। जितना भी अध्ययन हुआ है उसके परिणाम सकारात्मक हैं परन्तु इसके ऊपर अध्ययन अभी भी चल रहा है।

  1. अल्जाइमर रोग से संरक्षण:

Anar ke Fayde: ऐसा माना जाता है कि अनार के जूस में एंटीऑक्सीडेंट और उनकी उच्च सांद्रता अल्जाइमर रोग को बढ़ने से रोकती है और मनुष्य की याददाश्त को बनाये रखने में सहायक होती है।

  1. पाचन में सहायक:

अनार का जूस आँतों की सूजन को कम करके पाचन में सुधर करता है। यह क्रोन की बीमारी (Crohn’s disease), अल्सरेटिव कोलाइटिस और अन्य आंत्र सूजन वाले रोगों के लिए फायदेमंद (Anar ke Fayde) भी हो सकता है। डॉक्टर दस्त (Dast Ka Ilaj) के रोगियों को अनार का जूस न पीने की सलाह देते है क्योंकि यह दस्त में नुकसानदायक हो सकता है।

  1. एंटी इंफ्लामेट्री:

एंटीऑक्सीडेंट्स की उच्च सांद्रता के कारण अनार के जूस में शक्तिशाली एंटी इंफ्लामेट्री गुण (Anar ke Fayde) होते हैं। यह पूरे शरीर में सूजन को कम करने और ऑक्सीडेटिव तनाव और क्षति को रोकने में मदद कर सकता है।

  1. गठिया:

अनार के जूस में पाया जाने वाला फ्लेवोनोल सूजन को अवरुद्ध करने में मदद कर सकता है, जो ऑस्टियोआर्थराइटिस और उपास्थि क्षति में योगदान देता है। अनार के जूस को वर्तमान में ऑस्टियोपोरोसिस, रूमेटोइड गठिया (Arthritis Meaning in Hindi), और अन्य प्रकार के गठिया और संयुक्त सूजन पर इसके संभावित प्रभावों के लिए अध्ययन किया जा रहा है।

  1. दिल की बीमारी :

अनार का जूस, दिल को स्वस्थ रखने वाले जूस में सबसे प्रसिद्ध है, जो दिल और धमनियों (आर्टरीज) का ध्यान रखता है और उसे विभिन्न बीमारियों से बचाता है। कुछ अध्ययनो के अनुसार अनार का जूस रक्त स्त्राव या ब्लड फ्लो को सुचारु बनाये रखने में सहायक होता है और आर्टरीज को कठोर और मोटा होने से रोके रखता है। इसके अलावा यह आर्टरीज में प्लेक और कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से भी रोकता है।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Heart Stroke in Hindi

  1. ब्लड प्रेशर:

Anar Ke Fayde: रोजाना अनार का जूस पिने से सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद मिल सकती है। लेकिन यह निर्धारित करने के लिए अधिक अध्ययन किए जाने की आवश्यकता है कि अनार का जूस लंबे समय तक समग्र ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है या नहीं।

  1. एंटीवायरल:

Anar Khane ke Fayde: अनार में विटामिन C और विटामिन E जैसे प्रतिरक्षा-बढ़ाने (immunity (Immunity Meaning in Hindi) -boosting) वाले पोषक तत्व होते हैं, जो बीमारी को रोकते हैं और संक्रमण से लड़ने में सहायता करते हैं। एंटीवायरल होने के अलावा अनार एंटीबैक्टीरियल भी होता है।

  1. विटामिन से भरपूर:

विटामिन C और विटामिन E के अलावा, अनार का रस फोलेट, पोटेशियम और विटामिन K का भी एक अच्छा स्रोत है। चाहे आप अपने दैनिक आहार में अनार को शामिल करें या इसका जूस पियें, यह सुनिश्चित करलें कि यह 100% शुद्ध, और ताज़ा हो और उसमे अलग से चीनी न मिली हुई हो।

  1. फर्टिलिटी बढ़ाये:

Anar Ke Fayde: अनार के जूस की एंटीऑक्सीडेंट की सांद्रता और ऑक्सीडेटिव तनाव को प्रभावित करने की क्षमता इसे प्रजनन या फर्टिलिटी बढ़ाने में सहायता प्रदान करती है। ऑक्सीडेटिव तनाव शुक्राणु रोग का कारण बनता है और महिलाओं में प्रजनन क्षमता को कम करने का कारण बनता है। अनार का जूस पीने से पुरुषों और महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन का स्तर भी बढ़ता है, जो सेक्स ड्राइव के लिए मुख्य हार्मोन में से एक है।

  1. सहनशक्ति बढ़ाये:

Anar Khane Ke Fayde: चेरी और चुकंदर के जूस के जैसे अनार के जूस को भी स्पोर्ट्स एनहांसर (खेल प्रदर्शन में सुधार लेन वाले पेय) की श्रेणी में शामिल किया गया है। अनार का जूस दर्द को कम करके फिर से ताकत प्रदान करता है। साथ ही यह एक्सरसाइज के दौरान होने वाली ऑक्सीडेटिव क्षति को भी कम करता है।

  1. मधुमेह या डायबिटीज से बचाव (Anar ke Fayde):

पुराने समय में, अनार का उपयोग डायबिटीज (मधुमेह के लक्षण, कारण और जानिए सही करने के उपाए) के लिए एक उपचार की तरह किया जाता था। जबकि आजकल बहुत से लोगों को इस बात का ज्ञान तक नहीं है। अनार इन्सुलिन को कम करने और ब्लड शुगर को कम करने के काम आता है।

  1. ब्रैस्ट कैंसर से बचाव:

ब्रैस्ट कैंसर महिलाओं में पाया जाने वाला सबसे आम कैंसर है, जो किसी भी आयु की महिला को प्रभावित कर सकता है। अनार का जूस ब्रैस्ट कैंसर (Breast Cancer in Hindi) सेल्स को बढ़ने से रोकता है और उन्हें मार भी सकता है। हालांकि, इसके साक्ष्य वर्तमान में प्रयोगशाला अध्ययन तक ही सीमित है। किसी भी दावे को करने से पहले अधिक शोध की आवश्यकता है।

  1. दाँतों का स्वास्थ्य सुधारे:

अनार में एंटी-बैक्टीरिया और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो मुंह में प्लेक के निर्माण को रोकता है और मुंह में इन्फेक्शन और सूजन से लड़ने में भी मदद करते हैं जैसे कि गिंगिवाइटिस और पीरियडोंटाइटिस।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Mouth Cancer Symptoms in Hindi – मुँह के कैंसर के लक्षण और होने के कारण

Anar Khane Ke Nuksaan – अनार खाने के नुकसान

अनार खाने के फायदे (Anar khane Ke Fayde) तो हैं हीं, और हम सभी उनसे भलीभाँति परिचित भी हैं दूसरी तरफ इसके कुछ नुकसान भी हैं। यदि आपका किसी प्रकार का इलाज चल रहा है तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही अनार या अनार के जूस का सेवन करें। इसके फायदों (Pomegranate Benefits in Hindi) के बारे में तो हम ऊपर विस्तार से बता ही चुके हैं, आइये इसके नुकसानों के बारे में भी जान लेते हैं –

  • पोमेग्रेनेट एक्सट्रेक्ट वैसे तो सुरक्षित होता है, जब त्वचा पर लगाया जाता है लेकिन कुछ लोगों को इससे संवेदनशीलता भी हो सकती है, और परिणामस्वरूप खुजली (Khujli ke Upay) , सूजन, नाक बहना और साँस लेने में तकलीफ होना, ये सभी लक्षण दिखाई दे सकते हैं।
  • जब अनार के छिलके,जड़ या तने की अत्यधिक मात्रा को लिया जाता है तो यह वास्तव में असुरक्षित हो सकता है क्योंकि इसके जड़, तने, और छिलके में जहर होता है।
  • जिन व्यक्तियों का ब्लड प्रेशर लो होता है, अनार का जूस उसे और कम कर सकता है। ऐसे लोगों को अनार का जूस नहीं पीना चाहिए।
  • दस्त के दौरान अनार या अनार के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए, ऐसा करना आपके लिए नुकसानदेय हो सकता है।

ऐसा नहीं है कि केवल हरी पत्तेदार सब्जियों का जूस ही आपको स्वस्थ बनाये रख सकता है, अपनी डाइट में अनार के जूस (Anar ke Fayde) को शामिल करके भी आप पुरानी बीमारियों और सूजन से छुटकारा पा सकते हैं। अनार के अनेक लाभ (Anar Khane Ke Fayde) हैं जैसे यह हृदय रोग, कैंसर, गठिया और अन्य सूजन संबंधी स्थितियों सहित विभिन्न गंभीर बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा यह आपकी याददाश्त को बढ़ता है और एक्सरसाइज करने के लिए अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान करता है।