शुक्रवार , जुलाई 20 2018
ब्लॉग » स्वास्थ्य ब्लॉग » बुखार के कारन, लक्षण और इलाज – Fever Meaning in Hindi
fever in hindi - fever meaning in hindi
fever in hindi - fever meaning in hindi

बुखार के कारन, लक्षण और इलाज – Fever Meaning in Hindi

आमतौर पर शरीर के ताप का घटना-बढ़ना, जिसे बुखार (bukhaar or fever meaning in hindi) कहते हैं, इसकी रोग-प्रतिरोधआत्मक प्रणाली का किसी बाहरी संक्रमण से मुक़ाबला करने का एक तरीका होता है। मगर, कई बार यह हो सकता है की आपका तापमान ज़्यादा बढ़ जाए और यह बुखार एक गंभीर समस्या बन सकता है । आइये जानते हैं हम इस लेख में (fever in hindi) बुखार के कारन, लक्षण, निदान और इलाज।

बुखार क्या और क्यों होता है – Fever Meaning in Hindi

बैक्टीरिया, वायरस, कवक और अन्य प्रकार के रोगाणुओं जैसे कई सूक्ष्म जीव मानव शरीर में प्रवेश करते हैं, लगभग हर दिन। प्रतिरक्षा प्रणाली आमतौर पर इन सूक्ष्म जीवों से लड़ती है, जो उन्हें शरीर के भीतर किसी भी बड़ी समस्या का कारण बनती रहती है। हालांकि, ऐसे समय हो सकते हैं जब प्रतिरक्षा प्रणाली उन सभी से लड़ नहीं सकती और उन्हें शरीर से खत्म नहीं कर पाती है। जब एक व्यक्ति प्रतिरक्षा प्रणाली इन हानिकारक वायरस को रोकने में विफल हो जाती है, तो वे आमतौर पर शरीर में संक्रमण का कारण बनती हैं। यह बाद में शरीर में बुखार (fever meaning in hindi) के तोर पेह पेश होता है । इसलिए वायरल बुखार – bukhaar – fever meaning in hindi – शब्द वायरस के कारण होने वाले कई प्रकार के संक्रमणों के लिए उपयोग किया जा सकता है।

बुखार के लक्षण ( Symptoms Of Fever in Hindi )

fever meaning in hindi - fever hindi meaning
fever symptoms in hindi – fever hindi meaning

किसी प्रकार की बीमारी होने पर शरीर के द्वारा गयी प्रतिक्रियाएं जिससे हम मेडिकल भाषा में सिकनेस बिहेवियर(रोग आचरण) कहते हैं। इसी प्रकार बुखार (fever meaning in hindi) होने की स्तिथि में, आप यह बुखार के लक्षण (bukhaar ke lakshan or symptoms of fever in hindi) महसूस कर सकते हैं:

  • ठंडा महसूस करना
  • कंपकंपी
  • भूख मिट जाना
  • निर्जलीकरण
  • डिप्रेशन या अवसाद
  • हाइपर-अलगेसिअ – दर्द के प्रति संवेदनशीलता में बढ़ाव
  • थकान और सुस्ती
  • ध्यान केंद्रित करने में समस्याएं
  • तंद्रा
  • पसीना आना

यदि बुखार तेज़ होता है, तो आप यह बुखार के लक्षण (bukhaar ke lakshan) के साथ चिड़चिड़ापन, भ्रम और दौरे भी महसूस कर सकते हैं।

बुखार के कारण – Causes of Fever in Hindi

बुखार के कारन – bukhaar ke karan कई होते हैंम, जैसे की:

  • एक संक्रमण, जैसे फ्लू, चिकनपॉक्स, या निमोनिया
  • संधिशोथ ( rheumatoid arthritis )
  • कुछ दवाइओ का भी साइड-इफ़ेक्ट हो सकता है बुखार ( bukhaar – fever meaning in hindi)
  • सूरज की रोशनी, या सनबर्न के लिए त्वचा का ज़्यादा – अनावरण
  • गर्मी का दौरा, या तो उच्च तापमान या लंबे समय तक सख्त अभ्यास के संपर्क में रहने से होता है
  • निर्जलीकरण
  • सिलिकोसिस -जो एक फेफड़ो की बीमारी होती है
  • शराब की वापसी से भी हो सकता है

बुखार का निदान – Fever Diagnosis in Hindi

आम तौर पर बुखार का निदान (bukhaar ka needan) एक सरल प्रक्रिया है। जिसमें मरीज का तापमान लिया जाता है, और अगर ताप एक स्तर से ऊपर होता है तोह तो उससे बुखार (fever meaning in hindi) कहेंगे। ताप मापने वक़्त इस बात का ध्यान रखना चईये की पीड़ित विख्याति आराम की अवस्था में हो। क्यूंकि किसी भी प्रकार की शारारिक गतिविड़ी हमारे शरीर का तापमान बढ़ा सकती है।

एक व्यक्ति को बुखार में पीड़ित कहा जाता है जब:

  • मुंह में तापमान 37.7 डिग्री सेंटीग्रेड (99.9 डिग्री फ़ारेनहाइट) से अधिक होता है।
  • गुदाशय (गुदा) में तापमान 37.5-38.3 डिग्री सेंटीग्रेड (100-101 फारेनहाइट) से अधिक होता है।
  • हाथ के नीचे या कान के अंदर का तापमान 37.2 सेंटीग्रेड (99 फारेनहाइट) से अधिक होता है।

हमें यह याद रकना चईये की बुखार एक लक्षण (bukhaar ke lakshan) होता है और नाकि एक बीमारी। इसलिय जब डॉक्टर बुखार का पुष्टि करें चुके होते हैं तोह फिर यह मरीज़ को टेस्ट करवाने के लिए भेजता है। और उस टेस्ट के हिसाब से डॉक्टर आगे बीमारी या बुखार का निदान (bukhaar ka needan) करता है।

बुखार का इलाज और घरेलु नुस्के – Treatment of Fever in Hindi

कम ताप वाले बुखार के लिए आपको डॉक्टर की दवाई की ज़रुरत न पढ़ें। बल्कि कम ताप वाल्ला बुखार (bukhaar – fever meaning in hindi) हकीकत में हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है क्यूंकि यह शरीर में बढे इन्फेक्शन को मार देता है।

बुखार का इलाज

  • उच्च बुखार के मामले में, या कम बुखार (fever meaning in hindi – bhukar ) जो असुविधा पैदा कर रहा है, आपका डॉक्टर एसिटामिनोफेन (टायलोनोल, अन्य) या इबुप्रोफेन (एडविल, मोटरीन आईबी, अन्य) जैसे ओवर-द-काउंटर दवा दे सकता है।
  • एंटीबायोटिक वायरल संक्रमण का इलाज नहीं करते हैं, लेकिन कुछ वायरल संक्रमणों के इलाज के लिए इस्तेमाल कुछ एंटीवायरल दवाएं हैं। हालांकि, वायरस के कारण सबसे छोटी बीमारियों के लिए सबसे अच्छा इलाज अक्सर आराम किया जाता है और बहुत सारे तरल पदार्थ।

और पढ़िए: Khujli Ke Upay और  Goosebumps Meaning in Hindi.

जीवन शैली और घरेलू उपचार – Home Remedies for Fever in Hindi

बुखार (fever in hindi) के दौरान आप या अपने बच्चे को आराम देने के लिए कई घरेलु नुस्के उसे कर सकते हैं:

  • अधिक मात्रा में तरल पदार्थ पीए: बुखार तरल पदार्थ और उसके कारन निर्जलीकरण का कारण बन सकता है, इसलिए पानी, जूस या शरबत पीते रहना चईये। 1 वर्ष से कम आयु के बच्चे के लिए, एक मौखिक पुनरावृत्ति समाधान जैसे पेडियलटाइट का उपयोग करें। इन समाधानों में तरल पदार्थ और – इलेक्ट्रोलाइट्स को भरने के अनुपात में पानी और लवण होते हैं।
  • आराम करें: जब आपको बुखार (bukhaar – fever meaning in hindi) होता है तब आपको आराम करने की बहुत आवश्यकता होती है, क्यूंकि कोई भी तरह की गतिविधि आपके शरीर के तापमान को बढ़ा सकती है।
  • शांत रहें: हल्के कपड़ों पहने, कमरे के तापमान को ठंडा रखें और केवल एक हल्के कंबल के साथ सोएं।

बुखार का निवारण – Prevention Of Fever in Hindi

बुखार (bukhaar in hindi – fever meaning in hindi) आम तौर पर जीवाणु या वायरल संक्रमण के कारण होते हैं। इसलिय अगर आप बुखार (fever meaning in hindi – bukhaar) से बचना चाहते ऐन तोह हमेशा स्वच्छता बनाये रखें। स्वच्छता प्रथाएं संक्रमण को विकसित करने के जोखिम को कम करने में मदद करता हैं। इसमें भोजन के पहले और बाद में हाथ धोने और शौचालय जाने के बाद

किसी व्यक्ति को संक्रमण के कारण होने वाले बुखार (fever in hindi – bukhaar ) के संक्रमण के संक्रमण को रोकने के लिए अन्य लोगों के साथ जितना संभव हो उतना कम संपर्क होना चाहिए। जो भी रोगी की देखभाल कर रहे हैं उसे नियमित रूप से गर्म साबुन और पानी से हाथ धो लें।