ब्लॉग » स्वास्थ्य ब्लॉग » टॉ़यफायड बुखार – Typhoid Fever Meaning in Hindi
typhoid meaning in hindi - typhoid fever in hindi
typhoid meaning in hindi - typhoid fever in hindi

टॉ़यफायड बुखार – Typhoid Fever Meaning in Hindi

क्या आप जानते हैं कि संदूषित (Contaminated) भोजन और पानी पीने से आप एक गंभीर बीमारी का शिकार हो सकते हैं। इस बीमारी को टाइफॉयड बुखार (Typhoid Fever in Hindi) के नाम से जाना जाता है, जो साल्मोनेला टाइफी (Salmonella Typhi) नामक बैक्टीरिया से फैलती है। यह बीमारी पूरे शरीर में फैल सकती है, और आपके शरीर के कई अंगों को प्रभावित कर सकती है। तत्काल उपचार के अभाव में, यह घातक भी हो सकती है।औद्योगिक देशों(Industrial Countries) में टाइफाइड बुखार (Typhoid Fever Meaning in Hindi) दुर्लभ है लेकिन विकासशील देशों (Developing Countries) में एक यह बीमारी एक महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य मुद्दा है। आइये इस लेख की सहायता से टाइफॉयड बुखार (Typhoid Meaning in Hindi) के बारे में और अधिक जानकारी लेते हैं।

टाइफॉयड बुखार क्या है? Typhoid Fever in Hindi

टाइफॉयड बुखार (Typhoid meaning in Hindi), साल्मोनेला टाइफी नामक बैक्टीरिया के संक्रमण से होने वाली एक गंभीर बीमारी है, जो भोजन में उपस्थित एक जीवाणु (Bacteria) सैल्मोनेला टाइफी के संक्रमण से होता है और भोजन का इस बैक्टीरिया से संदूषण(Contamination) मक्खियों और हमारी गन्दी आदतों के कारण होता है। यह संक्रमित व्यक्ति के मल के साथ सीधे संपर्क से व्यक्तियों के बीच फैलता है या मानव से मानव तक फैलता है। इस रोग के जीवाणु भोजन के साथ आंतों में पहुँचकर आंतों को छतिग्रस्त करते हैं जिससे खूनी नासूर (Bloody ulcers) बन जाते हैं। बाद में जीवाणु रक्त में फैल जाते हैं। रक्त प्रवाह(Blood flow) से, यह अन्य ऊतकों और अंगों में फैलता है। टाइफॉयड बुखार (Typhoid Fever in Hindi) रोगी के immune System को कमजोर बना देता है और immune system की cells में रहता है।

अगर इलाज नहीं किया जाए, तो टाइफॉयड (Typhoid fever in Hindi) के 5 मामलों में से लगभग 1 घातक हो सकता है और उपचार के साथ,100 मामलों में से 4 से भी कम घातक होते हैं। कुछ लोगों में टाइफॉयड बुखार (Typhoid meaning in Hindi) के Bacteria (जीवाणु) होने के बाद भी इसके लक्षण दिखाई नहीं देते।

टाइफॉयड बुखार के कारण- Causes of Typhoid Fever

टाइफॉयड बुखार (Typhoid fever in Hindi) साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया के कारण होता है और संक्रमित मल-सामग्री से दूषित भोजन, पेय और पीने के पानी के माध्यम से फैलता है। प्रदूषित पानी से फल और सब्जियां धोना भी इसे फैला सकता है। कुछ लोगों में टाइफॉयड बुखार (Typhoid meaning in hindi) के बहरी लक्षण दिखाई नहीं देते, जिसका अर्थ है कि वे इस बैक्टीरिया से ग्रसित होने के बाद भी उनपर का कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। जबकि कुछ लोगों में टाइफॉयड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) खत्म होने के बाद भी साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया उनके शरीर में बना रहता है। कभी-कभी, यह रोग फिर से दिखाई दे सकता है। जो लोग इस रोग से ग्रस्त होते हैं उन्हें बच्चों या वृद्ध लोगों के साथ काम करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है, जब तक की medical tests से ये नहीं पता चल जाता की मरीज सही हो चुका है और इसके लक्षण पूरी तरह से जा चुके हैं।

टॉ़यफायड बुखार के लक्षण- Symptoms of Typhoid Fever in Hindi

टाइफाइड बुखार(Typhoid Fever in Hindi) के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • अपर्याप्त भूख (Poor Appetite)
  • सिरदर्द
  • दस्त (Diarrhea Meaning in Hindi)
  • सामान्यीकृत दर्द और पीड़ा
  • बुखार (Fever in Hindi)
  • सुस्ती (Lethargy)

तीव्र बीमारी के बाद लगभग 3% -5% रोगी इस बैक्टीरिया के वाहक बन जाते हैं। टायफॉइड (Typhoid fever in Hindi) के रोगी को आमतौर पर 103 फॉरेनहाइट -104 फॉरेनहाइट (39 सेल्सियस -40 सेल्सियस) तक बुखार रहता है।

कुछ मरीजों में चेस्ट कंजेस्शन की समस्या भी विकसित होती है। पेट दर्द और बेचैनी इस बुखार में सामान्य होते है और बुखार लगातार बना रहता है। ऐसे रोगियों में तीसरे और चौथे सप्ताह में सुधार होने लगता है। वहीं कुछ रोगियों (लगभग 10% ) में एक से दो सप्ताह बेहतर महसूस करने के बाद टायफॉइड (Typhoid fever in Hindi) के लक्षण (आवर्ती लक्षण) फिर से दिखाई देने लगते हैं। ऐसा उन रोगियों के साथ ज्यादा होता है जो एंटीबायोटिक दवाओं के इलाज से सही होते हैं।

टाइफॉयड बुखार के उपचार – Treatment of Typhoid

स्वच्छ पानी और धुलाई सुविधाओं की कमी वाले देशों में आम तौर पर टाइफॉयड(Typhoid meaning in Hindi) के मामलों की संख्या अधिक होती है। टाइफॉयड बुखार(Typhoid fever in hindi) का उपचार 2 प्रकार से किया जा
सकता है:

  • एंटीबायोटिक्स की सहायता से
  • टीकाकरण की सहायता से

एंटीबायोटिक्स की सहायता से

टाइफॉयड का इलाज (typhoid in hindi ka ilaj) एंटीबायोटिक्स की सहायता से किया जाता है, जो साल्मोनेला बैक्टीरिया को मारता है। एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग से पहले, मृत्यु दर 20% थी। एंटीबायोटिक्स और उचित देखभाल की वजह से, मृत्यु दर 1% -2% हो चुकी है। अगर रोगी उचित एंटीबायोटिक थेरेपी लेता है, तो आम तौर पर एक से दो दिनों में उसकी हालत में सुधार होने लगता है और 7 से 10 दिनों के भीतर वह पूरी तरह सही हो जाता है।

और पढ़िए: Jaundice Meaning in Hindi & Chikungunya Symptoms in Hindi.

टीकाकरण की सहायता से

टाइफॉयड ग्रसित क्षेत्र (High risk of Typhoid) में जाने से पहले, टाइफॉयड बुखार (typhoid fever in hindi) के लिए टीकाकरण की सलाह दी जाती है। टीकाकरण मौखिक दवाओं या इंजेक्शन द्वारा किया जाता है:

  • मौखिक (Oral): यह एक live, attenuated vaccine होता है जिसमे 4 गोलियां होती हैं, जो हर दूसरे दिन ली जाती हैं, जिसमें से अंतिम गोली यात्रा से 1 सप्ताह पहले ली जाती है।
  • शॉट, यह एक निष्क्रिय टीका होता है, जो यात्रा से 2 सप्ताह पहले लिया जाता है।

टीकाकरण 100% प्रभावी नहीं होते हैं इसलिए यात्रा के समय अपने खाने और पीने में सावधानी बरतनी चाहिए।अगर कोई व्यक्ति बीमार है या यदि वह 6 वर्ष से कम आयु के हैं तो टीकाकरण नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा HIV से ग्रसित किसी भी व्यक्ति को live and oral dose नहीं लेनी चाहिए। यद्धपि टीकाकरण के प्रभाव प्रतिकूल होते हैं फिर भी 100 लोगों में से एक को बुखार का अनुभव हो सकता है। मौखिक टीका के बाद, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं, मतली, और सिरदर्द होना सामान्य लक्षण होते हैं।

संक्रमण से कैसे बचें?- How to Avoid Typhoid Infection

टाइफॉयड (Typhoid meaning in Hindi ) संक्रमित मानव के मल के संपर्क और इंजेक्शन द्वारा फैलता है। यह संक्रमित जल स्रोत या भोजन से भी हो सकता है।

टायफाइड (Typhoid fever meaning in Hindi) के संक्रमण से बचने के लिए यात्रा करते समय निम्नलिखित सामान्य नियमों का पालन करे:

  • बोतलबंद पानी पियें, जहाँतक हो सके पानी कार्बोनेटेड हो इसका ध्यान रखें ।
  • यदि बोतलबंद पानी उपलब्ध न हो, तो कम से कम १ मिनट तक उबला हुआ पानी पियें।
  • सड़क के भोजन को खाने से बचें।
  • पेयपदार्थों में बर्फ से बचें।
  • कच्चे फल और सब्जियों को न खाये।