ब्लॉग » स्वास्थ्य ब्लॉग » मस्तिष्क स्वास्थ्य » Bipolar Disorder Meaning in Hindi – बाइपोलर डिसॉर्डर क्या है और कैसे करें इससे डील?

Bipolar Disorder Meaning in Hindi – बाइपोलर डिसॉर्डर क्या है और कैसे करें इससे डील?

आपने कभी ध्यान दिया हो तो आपको ज्ञात होगा की कभी कभी हमारा मूड बहुत अच्छा होता है कभी बहुत बुरा। किसी दिन हम अपने आपको बहुत चिड़चिड़ा महसूस करते हैं कभी बहुत खुश। तो घबराइए नहीं यह बहुत ही सामान्य होता है परन्तु यदि आपको बहुत ज्यादा और कई तरह के मूड स्विंग्स होते हैं तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है और हो सकता है कि आप किसी मस्तिष्क से सम्बंधित डिसऑर्डर का शिकार हो गए हों। मस्तिष्क के कुछ डिसऑर्डर्स में से ही एक होता है बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) जिसमे पीड़ित मनुष्य को बहुत जल्दी जल्दी मूड स्विंग होने की शिकायत रहती है। यह आपके दैनिक जीवन को तो खराब कर ही सकता है साथ ही साथ आपके आस पास के वातावरण को भी खराब कर सकता है, यहां तक कि कई बार इसके कारण आपके रिश्ते भी प्रभावित हो सकते हैं। आइये जानते हैं क्या होता है यह विकार (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) और इसके लक्षण (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi)? पर उससे पहले हम इसके (Bipolar Meaning in Hindi) बारे में कुछ तथ्यों को जानेगे।

Facts about Bipolar Disorder in Hindi – बाइपोलर डिसऑर्डर के कुछ तथ्य

बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) के बारे में जानने से पहले आइये हम इसके कुछ तथ्यों पर प्रकाश डालते हैं-

  • बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) को मैनिक अवसादग्रस्त बीमारी के रूप में जाना जाता है।
  • यह एक मूड से सम्बंधित डिसऑर्डर है, जिसमे मूड स्विंग्स हैं जो उच्च बाइपोलर मेनिया से निम्न डिप्रेशन तक जाता है।
  • इस डिसऑर्डर के शिकार आमतौर पर 20 साल की उम्र के आस पास वाले व्यस्क होते हैं।
  • बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) को अक्सर महिलओं द्वारा डिप्रेशन और पुरुषों द्वारा स्किज़ोफ्रेनिया समझ लिया जाता है, जिस कारण इसका निदान नहीं हो पाता।
  • इनके अलावा कभी कभी कुछ लोग इस डिसऑर्डर को Borderline Personality Disorder समझकर इसका गलत निदान करते हैं।
  • अगर इस डिसऑर्डर का इलाज (Treatment of Bipolar Disorder in Hindi) न किया जाये तो जानलेवा भी हो सकता है, कभी कभी इसके आत्महत्या करने की कोशिश भी करते हैं और हो सकता है वो अपने आपको हानि भी पहुचायें ।

Bipolar Meaning in Hindi – बाइपोलर डिसऑर्डर का मतलब हिंदी में

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ के मुताबिक लगभग 2.6 प्रतिशत अमेरिकी वयस्कों में बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Meaning in Hindi) (जिसे पहले मैनिक डिप्रेशन और मैनिक डिप्रेसिव डिसऑर्डर कहा जाता था) होता है। ये मूड स्विंग्स “हाई” (जब व्यक्ति अपने आपको संसार में सबसे ऊपर या ऊँचा समझता है) से लेकर “कम” (उदास और निराशाजनक महसूस करते हैं) डिप्रेशन तक महसूस कराते हैं। बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) से पीड़ित लोगों में विशेष रूप से डिप्रेसिव एपिसोड के दौरान आत्महत्या के प्रयास काफी आम हैं।

बाइपोलर डिसऑर्डर को प्रभावी ढंग से दवा और मनोचिकित्सा (psychotherapy) के द्वारा इलाज किया जा सकता है। उचित इलाज के साथ, बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) से पीड़ित व्यक्ति एक अच्छा और उत्पादक जीवन जी सकते हैं। यही कारण है कि लक्षणों को पहचानना और अपनी जांच के लिए मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर को दिखाना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

Causes of Bipolar Disorder in Hindi – बाइपोलर डिसॉर्डर के कारण

बाइपोलर डिसॉर्डर के लिए कोई भी खास कारण नहीं होता है। दरअसल, सभी मनोवैज्ञानिक विकारों की तरह, बाइपोलर डिसॉर्डर भी कई जटिल कारकों की वजह से उत्पन्न एक जटिल स्थिति है, जिसमें निम्न शामिल हैं:

अनुवांशिक: बाइपोलर डिसॉर्डर होने का कारण (Causes of Bipolar Disorder in Hindi) अक्सर आपकी पारिवारिक हिस्ट्री होती है, इसलिए शोधकर्ता मानते हैं कि इस डिसॉर्डर के लिए आनुवांशिक कारण होते है। वैज्ञानिक इसके लिए विशिष्ट जीन पर असामान्यताओं की उपस्थिति की खोज कर रहे हैं।

जैविक या बायोलॉजिकल: शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि सेरोटोनिन और डोपामाइन जैसे कुछ न्यूरोट्रांसमीटर, बाइपोलर डिसॉर्डर वाले व्यक्तियों में ठीक से काम नहीं करते हैं, जिसके कारण व्यक्ति इस डिसऑर्डर का शिकार हो जाता है।

पर्यावरण कारक: तनाव या एक प्रमुख जीवन घटना जैसे बाहरी कारक, जेनेटिक कारक या संभावित जैविक प्रतिक्रिया भी इस डिसऑर्डर के कारण हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि बाइपोलर डिसॉर्डर (Bipolar Meaning in Hindi) पूरी तरह अनुवांशिक है, तो अगर जुड़वाँ बच्चे है तो दोनों जुड़वाओं में यह डिसॉर्डर होगा। लेकिन कुछ शोध से पता चलता है कि एक जुड़वां बाइपोलर हो सकता है, जबकि दूसरा नहीं, पर्यावरण को संभावित योगदान कारण के रूप में जाना जाता है।

Different Kind of Bipolar Disorder in Hindi – बाइपोलर डिसऑर्डर के विभिन्न प्रकार

बाइपोलर डिसऑर्डर के विभिन्न प्रकार इस प्रकार हैं-

  1. बाइपोलर 1: इस प्रकार को क्लासिक प्रकार माना जाता है। इसमें पीड़ित व्यक्तियों को अलग-अलग समय के लिए मैनिक और डिप्रेसिव एपिसोड दोनों का अनुभव होता है।
  2. बाइपोलर 2: इसमें बाइपोलर 1 की तुलना में कम गंभीर मैनिक एपिसोड शामिल हैं; हालांकि, उनके डिप्रेसिव एपिसोड समान होते हैं।
  3. साइक्लोथिमिया: बाइपोलर डिसऑर्डर का एक पुराना लेकिन हल्का रूप है, जो कि हाइपोमैनिया और डिप्रेशन के एपिसोड द्वारा पहचाने जाते है जो कम से कम दो वर्षों तक रहता है।
  4. मिश्रित एपिसोड: इसमें पागलपन और डिप्रेशन एक साथ होते हैं। व्यक्ति निराशाजनक और उदास महसूस कर सकते हैं अभी तक ऊर्जावान और खतरनाक व्यवहार में शामिल होने के लिए प्रेरित हो सकते हैं।
  5. रैपिड-साइक्लिंग बाइपोलर: इसमें कोई व्यक्ति को एक वर्ष के भीतर चार या अधिक बार पागलपन या मेनिया, डिप्रेशनया दोनों का अनुभव कर सकता है।

Symptoms of Bipolar Disorder in Hindi – बाइपोलर डिसऑर्डर के लक्षण

बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) के 4 मुख्य स्टेट्स होती हैं-

  • मेनिया
  • हाइपोमेनिया
  • डिप्रेशन
  • डिप्रेशन और मेनिया का मिश्रण (मिक्स्ड एपिसोड कहा जाता है)

व्यक्ति के मिज़ाज में परिवर्तन ही इस डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) में आकर्षण का केंद्र की तरह होता है, जो किसी व्यक्ति में सप्ताह में कई बार हो जाता है। वहीं कुछ व्यक्तियों में महिनो में एक बार कभी कभी साल में एक बार होता है।

मेनिया

मेनिया का अनुभव करते समय,बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) वाले व्यक्ति को भावनात्मक परिवर्तन महसूस हो सकता है। वे उत्तेजित, आवेगपूर्ण, उदार, और ऊर्जा से भरा महसूस कर सकते हैं। मैनिक एपिसोड के दौरान, ये व्यवहार शामिल हो सकते हैं जैसे कि:

  • बहुत खर्च करना
  • असुरक्षित सेक्स
  • नशीली दवाओं के प्रयोग

डिप्रेशन

डिप्रेशन के दौरान आप अनुभव कर सकते हैं:

  • गहरी उदासी
  • निराशा
  • ऊर्जा का नुकसान
  • उन गतिविधियों में रुचि की कमी जिनमे आपको आनंद आता था
  • बहुत कम सोना या बहुत ज्यादा सोना
  • आत्मघाती विचार

बाइपोलर डिसऑर्डर के लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) के कारण इसको पहचानना मुश्किल हो जाता है क्योंकि महिलाओं, पुरुषों और बच्चों में इसके लक्षण अलग अलग होते हैं आइये जानते हैं क्या क्या लक्षण (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) होते हैं बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Meaning in Hindi) के-

Bipolar in Women – महिलाओं में लक्षण

कई मामलों में महिलाये इन लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) को महसूस कर सकती हैं-

  • 20 या 30 साल की उम्र में यह होता है
  • मेनिया के हल्के एपिसोड
  • मैनिक एपिसोड की तुलना में डिप्रेसिव एपिसोड ज्यादा होते हैं
  • साल में 4 या अधिक बार मेनिया या डिप्रेसिव अटैक आना
  • एक ही समय में अन्य स्थितियों का अनुभव करना जैसे, थायराइड रोग, मोटापा, चिंता विकार, और माइग्रेन
  • एलकोहॉल यूज डिसऑर्डर का खतरा

Bipolar in Men – पुरुषों में लक्षण

पुरुषों को महिलाओं से अलग लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) का अनुभव हो सकता है। बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) वाले पुरुष हो सकते हैं:

  • जल्दी पहचान लेना चाहिए
  • पुरुष अधिक गंभीर मेनिक एपिसोड का अनुभव करते हैं
  • चीजें तोड़ते हैं
  • मैनिक एपिसोड के दौरान कार्य नहीं कर पाते

बाइपोलर डिसॉर्डर वाले पुरुष महिलाओं की तुलना में चिकित्सा देखभाल की अपेक्षा कम संभावना रखते हैं। साथ ही उनमे आत्महत्या से मरने की भी संभावना ज्यादा होती है।

Bipolar in Children – बच्चों में लक्षण

बाइपोलर डिसॉर्डर के कारण (Causes of Bipolar Disorder in Hindi) बच्चे के लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) में निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • बहुत मूर्खतापूर्ण अभिनय और अत्यधिक खुशी महसूस करना
  • तेजी से और तेजी से बदलते विषयों पर बात करना
  • ध्यान केंद्रित या ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना
  • जोखिम भरा चीजें करना या जोखिम भरा व्यवहार करना
  • जल्दी से गुस्सा आ जाना
  • नींद की कमी के बाद सोने में परेशानी होना और थकान का अनुभव करना
  • तवियत सही न होने की शिकायत करना जैसे सरदर्द बताना या पेटदर्द की शिकायत
  • बहुत कम या बहुत ज्यादा खाना
  • मृत्यु और आत्महत्या के बारे में सोचना

Diagnosis of Bipolar Disorder – बाइपोलर डिसऑर्डर को कैसे पहचाने?

बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) की पहचान करने के लिए कोई चिकित्सा परीक्षण नहीं है। हालांकि, एक मनोवैज्ञानिक, मनोचिकित्सक या अन्य प्रशिक्षित मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर आमने-सामने नैदानिक इंटरव्यू आयोजित करके इस डिसऑर्डर (Bipolar Meaning in Hindi) का निदान कर सकते हैं। आपके नैदानिक ​​इंटरव्यू में आपके और आपके परिवार के चिकित्सा और मानसिक स्वास्थ्य इतिहास और आपके लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) के बारे में विस्तृत प्रश्न शामिल होंगे।

Treatment for Bipolar Disorder in Hindi – बाइपोलर डिसऑर्डर के लिए उपलब्ध इलाज

बाइपोलर डिसऑर्डर के इलाज (Treatment of Bipolar Disorder in Hindi) के लिए कई तरह के उपचार उपलब्ध हैं, जिनमे दवाइयों की सहायता से, काउंसलिंग करके, साइकोथेरेपी, लाइफ स्टाइल में परिवर्तन लाकर और कुछ घरेलू उपायों की सहायता शामिल हैं। जो इस प्रकार हैं-

दवाइयाँ

बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) में ये दवाएं लें-

  • मूड स्टेबिलाइजर्स
  • एंटीसाइकोटिक्स
  • एंटीड्रिप्रेसेंट-एंटीसाइकोटिक्स
  • एंटी-चिंता दवा जैसे अल्पार्जोलम (ज़ैनैक्स) जिसका उपयोग अल्पावधि उपचार के लिए किया जा सकता है

साइकोथेरेपी

इन साइकोथेरेपी का प्रयोग करें-

  • कॉग्निटिव बेहवियरल थेरेपी या संज्ञानात्मक व्यवहार चिकित्सा एक प्रकार का टॉक थेरेपी है।
  • साइकोएजुकेशन एक तरह की परामर्श है जो आपको और आपके प्रियजनों को इस डिसऑर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) को समझने में मदद करता है।
  • Interpersonal and social rhythm therapy (IPSRT) दैनिक आदतों को नियंत्रित करने पर केंद्रित है, जैसे सोना, खाना बनाना और व्यायाम करना।

लाइफ स्टाइल में बदलाव

अपनी जीवन शैली में कुछ परिवर्तन लेकर भी आप बाइपोलर डिसॉर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) से छुटकारा पा सकते हैं-

  • खाने और सोने के लिए नियमित रखें
  • मूड स्विंग्स को पहचानना सीखें
  • अपनी उपचार योजनाओं का समर्थन करने के लिए किसी मित्र या रिश्तेदार से पूछें
  • डॉक्टर या लाइसेंस प्राप्त स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से बात करें

Tips for Copping and Support

जो लोग डिप्रेसिव स्टेज का सामना कर रहे हैं, उनमें आत्मघाती विचार हो सकते हैं। यदि आपके सामने कोई आत्महत्या की बात करे तो इसे गंभीरता से लें। अगर आपको लगता है कि किसी को आत्म-नुकसान या किसी अन्य व्यक्ति को चोट पहुंचाने का तत्काल जोखिम है:

  • 911 या अपने स्थानीय आपातकालीन नंबर पर कॉल करें।
  • मदद आने तक व्यक्ति के साथ रहें।
  • किसी भी बंदूक, चाकू, दवाएं, या अन्य चीजों को हटा दें जो नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • सुनो, लेकिन न्याय मत करो, बहस करें, धमकी दें, या चिल्लाओ।

कुछ घरेलू उपायों को करके भी आप बाइपोलर डिसॉर्डर (Bipolar Disorder in Hindi) से छुटकारा पा सकते है। उसके अलावा इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी (ECT), सोने के लिए दवाइयां लेकर, सप्लीमेंट्स से और एक्यूपंचर की सहायता से भी इसका (Bipolar Disorder Meaning in Hindi) इलाज किया जा सकता है। जरुरी है कि सही समय पर इसके लक्षणों (Bipolar Disorder Symptoms in Hindi) को इनका निदान कर लिया जाये।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: जानिये स्कीज़ोफ्रेनिया के लक्षण, कारन और उपाय – Schizophrenia in Hindi

बाइपोलर डिसऑर्डर या स्कीज़ोफ्रेनिया या अन्य किसी दिमाग से सम्बंधित समस्या के इलाज के लिए आज ही अपने पास के न्यूरोलॉजिस्ट (Neurologist in Ahmedabad) से अपॉइंटमेंट बुक कराएं।